कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा का यहां सोमवार को हजारों लोगों ने उनके रोडशो के दौरान स्वागत किया। प्रियंका के साथ उनके भाई व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने यहां खुली बस में रोड शो किया। आगामी लोकसभा चुनावों से पहले पार्टी की पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी महासचिव बनाए जाने के बाद यह उनका लखनऊ का पहला दौरा था।

यहां सुरक्षाबलों के लिए उत्साहित भीड़ को संभालना काफी मुश्किल काम रहा। काफिले में अन्य नेताओं के अलावा प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर, पश्चिमी उत्तरप्रदेश के प्रभारी महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल थे। लोगों ने प्रियंका गांधी का जमकर उत्साह बढ़ाया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ नारे लगाए।

बर्लिगटन चौराहे के पास एक जगह प्रियंका गांधी, राहुल गांधी, सिंधिया और अन्य नेताओं को खतरनाक तरीके से लटक रहे बिजली के तार से बचने के लिए अपना सिर नीचे झुकाना पड़ा, जिसके बाद उन्हें बस से थोड़ी देर के लिए उतारकर कार में बिठा दिया गया।

समर्थक ‘आ गई बदलाव की आंधी, राहुल संग प्रियंका गांधी’ का नारा लगा रहे थे, जबकि कुछ समर्थक प्रियंका की तस्वीर वाली टोपी और टी-शर्ट पहने हुए थे।

प्रियंका लगातार लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन कर रही थीं। वहीं कई समर्थक उनकी तरफ माला उछाल रहे थे। सैकड़ों कार्यकर्ता अपने हाथों में पार्टी का झंडा लिए हुए थे।

चौधरी चरण सिंह हवाईअड्डे से मॉल एवेन्यू स्थित कांग्रेस कार्यालय तक लगभग 25 किलोमीटर लंबे मार्ग पर प्रियंका गांधी के पोस्टर पटे हुए थे। कई पोस्टरों में उन्हें देवी दुर्गा के रूप में दिखाया गया था। कुछ पोस्टरों में उनकी तुलना देवी दुर्गा से की गई थी।

कांग्रेस कार्यालय हजारों किलोग्राम ताजे गेंदे और अन्य फूलों से सजा हुआ था।

सोमवार को ट्विटर पर पदार्पण करने वाली प्रियंका ने एक दिन पहले कहा था कि वे एक नया भविष्य, नई राजनीति का निर्माण करना चाहती हैं।

उन्होंने कहा था, “मुझे उम्मीद है कि हम एक नए प्रकार की राजनीति शुरू करेंगे जिसमें आप सभी साझेदार होगे। आओ, मेरे साथ नया भविष्य, नई राजनीति का निर्माण करें।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here