नईदिल्ली : भारतीय वायुसेना अपने पुराने मिग विमानों को अगले तीन सालों में हटाने वाली है. इन सभी विमानों की जगह अत्याधुनिक राफेल विमान लेंगे. इस साल के आखिर तक भारत को राफेल मिलने शुरू हो जाएंगे. इन राफेल विमान के आने के साथ ही मिग-21 विमान को हटाने का काम शुरू कर दिया जाएगा. रक्षा मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक पहले चरण में साल 2022 तक सभी मिग-21 विमानों को हटाने का काम किया जाएगा. इसके बाद मिग-27 और मिग-29 विमानों को हटाया जाएगा. इन सभी विमानों को साल 2030 तक पूरी तरह से हटा लिया जाएगा. भारत को पहला राफेल विमान सितंबर तक मिलने की उम्मीद है. गौरतलब है कि 1964 में भारतीय वायुसेना का पहला सुपरसोनिक लड़ाकू विमान मिग-21 मिला था. भारत के पास इस समय करीब 40 से 45 मिग-21 विमान हैं. इन विमानों में से ज्यादातर को ट्रेनिंग देने में इस्तेमाल किया जाता है. हाल ही में मिग-21 बाइसन विमान ने पाकिस्तान के एफ-16 विमान को मारकर हर किसी को हैरान कर दिया था. सूत्रों के मुताबिक फ्रांस की ओर से सभी 36 विमान साल 2022 तक भारत को सौंप दिए जाएंगे. गौरतलब है कि मिग विमानों के क्रैश होने की खबरें लगातार बढ़ती जा रही हैं. पिछले 40 सालों में करीब 500 मिग विमान हादसे हुए हैं. इन हादसों में 171 पायलट और 39 नागरिकों की मौत हुई है.

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here