मुकेश अम्बानी और बीपी हुआ बड़ा करार, पांच साल में 5,500 से भी ज्यादा पेट्रोल पंप खोलने का बनाया लक्ष्य…रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) और बीपी ने मंगलवार को घोषणा करते हुए कहा कि वे एक नया संयुक्त उद्यम बनाने पर सहमत हुए हैं। जिसमें पूरे भारत में एक रिटेल सर्विस स्टेशन नेटवर्क और विमानन ईंधन कारोबार शामिल होगा। रिलायंस के मौजूदा इंडियन फ्यूल रिटेलिंग नेटवर्क और एविएशन फ्यूल बिजनेस में कार्यरत,पार्टनर्स को उम्मीद है कि देश में ऊर्जा और मोबिलिटी की तेजी से बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए यह उपक्रम तेजी से विस्तार करेगा।

1,400 पेट्रोल पंप और एक विमानन ईंधन व्यवसाय का निर्माण
एक बयान के बमधयम से दोनों फर्मों ने कहा ‘वे एक नया संयुक्त उद्यम बनाने के लिए सहमत हुए हैं जिसमें एक रिटेल सर्विस स्टेशन नेटवर्क और भारत भर में विमानन ईंधन व्यवसाय शामिल होगा। ये संयुक्त उद्यम रिलायंस के मौजूदा ईंधन रिटेलिंग नेटवर्क पर करीब 1,400 पेट्रोल पंप और एक विमानन ईंधन व्यवसाय का निर्माण करेगा। जिसका लक्ष्य अगले पांच वर्षों में 5,500 साइटों तक तेजी से विकास करना है। इस संयुक्त उद्यम में आरआईएल का विमानन ईंधन कारोबार भी शामिल होगा, जो वर्तमान में पूरे भारत में 30 से अधिक हवाई अड्डों पर काम कर रहा है, जो इस तेजी से बढ़ते बाजार में भागीदारी है।’ नए जॉइंट वेंचर में रिलायंस की 51 फीसद हिस्सेदारी होगी, जबकि बीपी के पास शेष 49 फीसद हिस्सेदारी होगी। यह जॉइंट वेंचर रिलायंस के मौजूदा भारतीय ईंधन रिटेल नेटवर्क के स्वामित्व को बरकरार रखेगा और अपने विमानन ईंधन कारोबार तक पहुंच बनाएगा।

आरआईएल और बीपी ने साझेदारी के बाद 2011 से

यह अनुमान है कि 2019 के दौरान अंतिम समझौते किए जाएंगे और, नियामक और अन्य प्रथागत अनुमोदन के अधीन, लेनदेन 2020 की पहली छमाही में पूरा हो जाएगा। आरआईएल और बीपी ने साझेदारी के बाद 2011 से ही इसकी नीव रख दी और 2017 में इसका विस्तार हुआ जिसमें अलग अलग तरह का ईंधन और मोबिलिटी बिजनेस को विकसित करने का लक्ष्य था। बीपी सुविधा और ईंधन रिटेलिंग और विमानन परिचालन में अपने अंतरराष्ट्रीय अनुभव का इस्तेमाल करते हुए वेंचर के नेटवर्क पर कैस्ट्रोल लुब्रिकेंट भी उपलब्ध कराएगा। भारत के पश्चिमी तट पर गुजरात में विश्व के सबसे बड़े रिफाइनरी परिसर, जामनगर रिफाइनिंग कॉम्प्लेक्स से प्रतिस्पर्धी ईंधन की आपूर्ति तक पहुंच से वेंचर को भी लाभ होने की उम्मीद है।

इस मौके पर मुकेश अंबानी ने कहा कि “हम ईंधन के रिटेल क्षेत्र में वैश्विक नेताओं में से एक, बीपी के साथ अपनी साझेदारी का विस्तार करने के लिए खुश हैं। यह साझेदारी बीपी और रिलायंस के बीच मजबूत संबंधों का प्रमाण है। भारत में गैस संसाधनों के विकास में हमारी मजबूत भागीदारी अब ईंधन के खुदरा बिक्री और विमानन ईंधन तक फैल गई है। इस परिवर्तनकारी साझेदारी से देश भर में विश्व स्तरीय सेवाओं को बढ़ाने के साथ उपभोक्ताओं के साथ हमारी जुड़ाव और गहरा होगा।”

बॉब डुडले (ग्रुप चीफ एग्जीक्यूटिव, बीपी) ने कहा कि “भारत 2020 के मध्य तक ऊर्जा के लिए दुनिया का सबसे बड़ा विकास बाजार बन गया है। बीपी पहले से ही एक बड़ा निवेशक है और हम इस वृद्धि का समर्थन करने के लिए और अधिक आकर्षक, रणनीतिक अवसर देखते हैं। हम भारत के गैस संसाधनों को विकसित करने के लिए रिलायंस के साथ मिलकर काम कर रहे हैं, जिससे उस प्रमुख ईंधन की देश की मांग को पूरा करने में मदद मिल रही है। हम पूरे देश में उपभोक्ताओं को उच्च-गुणवत्ता वाले ईंधन, सुविधा खुदरा और सेवाओं की आवश्यकता प्रदान करने के लिए काम करेंगे, जो देश भर में आधुनिकीकरण और गतिशीलता समाधानों को जारी रखेंगे।”

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here