भारत में #MeToo मूवमेंट का बिगुल फूंकने वाली एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता भारतीय सिस्टम से काफी निराश हैं। तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर, गणेश आचार्य, समी सिद्दीकी और राकेश सारंग पर फिल्म हॉर्ट ओके प्लीज की शूटिंग के दौरान ह’रासमेंट करने का आरोप लगाया था। जांच के बाद पुलिस ने कोई साक्ष्य न मिलने की बात कहते हुए नाना पाटेकर व बाकी आरोपियों को क्लीन चिट दे दी।

नाना पाटेकर को क्लीन चिट मिल जाने के बाद तनुश्री दत्ता ने कहा कि वह ना तो इस फैसले से चकित हैं और ना ही उन्हें आश्चर्य हो रहा है। हालांकि उन्हें बहुत निराशा थी जिसे वह अपने भीतर छिपा कर नहीं रख सकीं। तनुश्री ने भारत के पुलिस अधिकारियों को भ्रष्टाचार में लिप्त और भारतीय न्याय व्यवस्था और कानून को बिकाऊ करार दिया।

तनुश्री ने अपने बयान में कहा, “मुंबई पुलिस झूठ बोल रही है कि CINTAA के साथ की गई मेरी शिकायत में मैंने सेक्सुअल हरासमेंट की बात का जिक्र नहीं किया था। उन्हें 2008 में मेरी सिंटा को दिए गए शिकायत पत्र की कॉपी दी गई थी जिसमें साफ तौर पर से’क्सुअल हरासमेंट की बात का जिक्र किया गया था। इस शिकायत पत्र को 2018 की मेरी FIR से जोड़ा गया था।

“साल 2008 में उन्होंने मेरी FIR लेने तक से इनकार कर दिया था और शिकायत को तोड़ा मरोड़ा ताकि आरोपियों को बचाया जा सके। इसके अलावा सभी को पता है कि सिंटा ने शिकायत पर काम नहीं हो पाने के लिए एक लिखित माफीनामा जारी किया था। सिंटा के द्वारा जारी किया गया ये माफीनामा मीडिया में छपा था और हमने इसे पुलिस को सौंपा था ताकि चीजों को साबित किया जा सके।

तनुश्री ने अपने बयान में कहा, “यह भ्रष्टाचार की हद है। वो कैसे सबूतों को तोड़-मरोड़ सकते हैं ताकि आरोपियों को बचा कर चीजों को उल्टा मेरे ही खिलाफ लाया जा सके। पुलिस ने शुरू से ही आरोपियों से हाथ मिला रखे थे, तब भी जब उन्होंने हमसे कहा कि हमारा केस बहुत मजबूत है आप सारे सबूत ले आइए हम उन्हें जल्द से जल्द गिरफ्तार कर लेंगे। उन्होंने बजाए गिरफ्तारी के हमारी ही पीठ में छुरा घोंपा और मेरी शिकायत को फर्जी और जाली बता दिया।

तनुश्री दत्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी घेरे में लिया। उन्होंने कहा, “मोदी जी। भ्रष्टाचार मुक्त भारत का क्या हुआ? एक सीरियल ऑफेंडर के द्वारा देश की एक बेटी के साथ ह’रासमेंट होता है, भीड़ खुलेआम ह’मला करती है, बार बार न्याय नहीं मिलता, झूठा ठहराया जाता है। उसे धमकाया जाता है और दबाव बनाया जाता है, करियर ख’त्म कर दिया जाता है। उसे मजबूर कर दिया जाता है दूसरे देश में जाकर गुमनाम जिंदगी जीने के लिए और पुलिस कहती है कि शिकायत झूठी है और फर्जी है

“यही है आपका राम राज्य़?? एक हिंदू परिवार में पैदा होने के नाते मैंने तो सुना था कि राम नाम सत्य है। तो फिर क्यों इस देश में असत्य और अधर्म की बार बार विजय होती रही है?? जवाब दीजिए मुझे

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here