दुनिया में अंधविश्वास ने इस कदर जड़े जमा रखी है कि तमाम प्रयासों के बाद भी लोगों की मानसिकता बदलने का नाम नहीं ले रह है। आज आपको अंधविश्वास का एक ऐसा मामला बताने जा रहे है। जिसके बारे में जानकर आपका दिल दहल जाएगा।हमारे देश में रोज अंधविश्वास के मामले सामते आते रहते है फिर भी लोग थमने का नाम नहीं ले रहे है। कई ऐसे मामले सामने आए है जिनमें सिर्फ अंधविश्वास के चलचते कई लोगों की जाने गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये मामला झापुआ जिले से हमारे सामने आया है जहां पर अंधविश्वास रूकने का नाम नहीं ले रहा है।हैरान कर देने वाली बात है कि यहां पर एक पिता ने अपने 15 दिन के बेटे को खासी जुंकाम की वजह से एक झाड़ फुक करने वाले के पास ले गए और उसने बच्चे के पेट पर गरम सरिया दाग दिया।इस बारे में गांव के लोगों का मानना है कि अगर किसी बच्चे को खासी जुकाम हो जाती है तो उसको हापलिया बीमारी हो गई है। औऱ बच्चे के परिजन उसका इलाज कराने के लिए झाड़ फुक करने वाले के पास ले जाते है। जानकारी के लिए बता दें कि झाड़ फुक करने वाले बाबा ने हर इँसान की हर एक समस्या दूर करने के लिए 200 रूपये लेता है बच्चों के शरीर पर गरम सरिया दाग देता है। जब बच्चे की बीमारी ठिक नहीं हुई तो बच्चे के परिजान उसको लेकर अस्पताल लेकर गए वहां पर जांच में सामने आया की बच्चे को जलाने के कारण सेप्टीसिमिया हो गया था।हालत गंभीर होने के कारण उसको दूसरे अस्पताल में रेफर कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here