ज्यादा बारिश के कारण इन सभी शहरों की हालत हुई बहुत ज्यादा खराब …….मानसून की आमद देश के कई हिस्सों में राहत के साथ-साथ आफत भी लेकर आई है। बारिश से जहां भारी गर्मी से राहत मिली, वहीं कई इलाके बाढ़ की चपेट में आ गए। बिहार (BIHAR ), असम(Assam) , झारखंड (Jharkhand) सहित कई राज्यों में आफत वाली बारिश हो रही है, वहीँ कई इलाके अभी भी बारिश के इन्तजार में हैं। तमिलनाडु (Tamil Nadu) में बारिश न होने के कारण सूखे की स्थिति है। हालांकि चेन्नई (Chennai) में सोमवार की देर शाम बारिश होने से लोगों को राहत मिली है। दिल्ली और एनसीआर में बीते सोमवार को झमाझम बारिश हुई।

 बिहार में बारिश का कहर

बिहार में बारिश कहर बनकर बरस रही है। राज्य के कुल 12 जिलों के 64 प्रखंड की 20 लाख से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित है। अररिया, किशनगंज, शिवहर, सीतामढ़ी, पूर्वी चंपारण, सुपौल, मधुबनी, दरभंगा, कटिहार, मोतिहारी, बेतिया और मुजफ्फरपुर में लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कमला बालन नदी में 1987 के बाद इतना ज्यादा पानी आया है। स्थिति काफी भयावह है, बाढ़ के कारण बड़े पैमाने पर आवाजाही प्रभावित हुई है। वहीं, अब तक कुल 31 लोगों की मौत हो गई है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जल संसाधन मंत्री संजय झा प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किए थे।

 

डूबा काजीरंगा नेशनल पार्क

बिहार के साथ ही असम और झारखंड भी बाढ़ की चपेट में हैं। असम के 33 जिलों में से 30 में भयावह स्थिति बनी हुई है। 15 लोगों की मौत हो चुकी है। काजीरंगा नेशनल पार्क का 90 फीसदी हिस्सा डूब चुका है। बाढ़ से अब तक 42 लाख 86 हजार लोग प्रभावित हैं। बाढ़ के पानी से यहां के जानवरों की जिंदगी पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। जानवर जहां-तहां फंसे हुए हैं। काजीरंगा नेशनल पार्क करीब एक हजार हाथियों और सैकड़ों हिरणों का घर है लेकिन इन दिनों काजीरंगा पार्क ब्रह्मपुत्र में आई बाढ़ की वजह से छोटे-छोटे द्वीप में तब्दील हो चुका है। मेघालय में पिछले सात दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश की वजह से दो नदियों में बाढ़ आ गई है जिनका पानी पश्चिम गारो हिल्स जिले के मैदानी इलाकों में घुस गया है जिससे कम से कम 1.14 लाख लोग प्रभावित है।

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here