चंद्र ग्रहण के एक दिन बाद गर्भवती महिलाएं रहें सावधान….भारत में दिखेगा चंद्र ग्रहण का असर
16 जुलाई को एक बार फिर चंद्र ग्रहण की दशा बन रही है। जो कि आपके ग्रहों की दिशा बदल सकती है। इस चंद्र ग्रहण का भारत में पूरा प्रभाव दिखेगा। वैसे तो ग्रहण के दौरान सभी को सावधानियां बरतनी पड़ती हैं लेकिन ऐसे वक्त में गर्भवती महिलाओं को अपनी और अपने बच्चे की सुरक्षा के लिए विशेष सावधानियां बरतनी पड़ती है। इस ग्रहण के दौरान भी प्रेगनेंट स्त्रियों को कुछ विशेष ध्यान रखने होंगे।

कुछ भी खाने से बचें
गर्भवती महिलाओं को ग्रहण के दौरान बना हुआ खाना नहीं खाना चाहिए।कहा जाता है कि इस समय में पड़ने वाली हानिकारक किरणें खाने को दूषित कर देती हैं।ऐसे में अगर घर पर खाना बना हो तो उसमें तुरंत तुलसी के पत्ते डाल दें। ग्रहण खत्म होने के बाद उन्हें निकाल दें। ऐसा करने से ग्रहण के बाद भी खाना शुद्ध रहता है।

ग्रहण के बाद जरूरी है स्नान

माना जाता है कि ग्रहण खत्म होने के बाद गर्भवती महिला को जरूर नहा लेना चाहिए वर्ना उसके शिशु को त्वचा संबधी रोग लग सकते हैं। ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए गर्भवती महिला को तुलसी का पत्ता जीभ पर रखकर हनुमान चालीसा और दुर्गा स्तुति का पाठ करना चाहिए।

न जाएं घर से बाहर
चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि गर्भवती महिला अगर ग्रहण देख लेती है तो उसका सीधा असर उसके होने वाले बच्चे की शारीरिक और मानसिक सेहत पर पड़ता है। जिसकी वजह से शिशु गंदे लाल चिन्हों के साथ पैदा होता है।

नुकीली चीजों से बचें
ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को किसी भी नुकीली चीज का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए जैसे चाकू, कैंची, सूई आदि। शास्त्रों में यह भी कहा जाता है कि न सिर्फ गर्भवती महिलाएं बल्कि उनके पति भी इस समय इन चीजों का इस्तेमाल करने से बचें। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से उसके शिशु के अंगों को हानि पहुंच सकती है।

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here