नई दिल्ली: हाल ही में बीजेपी नेताओं के जिस तरह के बयान आ रहे हैं, उससे लगता है कि शहरों के नाम बदलने के बाद अब पार्टियों के नाम बदलने की भी कवायद में जुट गए हैं. पीएम मोदी ‘सराब’ ‘टर्म के बाद अब उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने भी विरोधी दलों के नाम की एक नई परिभाषा दी है. उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने राज्य में लोकसभा चुनाव 2019 के लिए गठबंधन करने वाली समाजवादी पार्टी (SP), बहुजन समाज पार्टी (BSP) तथा राष्ट्रीय लोकदल (RLD) पर तंज कसते हुए SP को ‘समाप्त पार्टी’, BSP को ‘बिल्कुल समाप्त पार्टी’ और RLD को ‘रोज़ लुढ़कता दल’ करार दिया, और कहा कि इन पार्टियों का चरित्र सभी को मालूम है.केशव प्रसाद मौर्य ने कहा, “न SP प्रमुख अखिलेश यादव, और न ही BSP की मुखिया मायावती खुद को गठबंधन में मजबूत कर पाए हैं. वास्तविकता यह है कि गठबंधन कर दोनों ही कमज़ोर हो गए हैं…”उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री ने अखिलेश यादव की तरफ इशारा करते हुए कहा, “जो व्यक्ति अपने पिता का न हुआ, वह बुआ (मायावती) के साथ झूठा संबंध कैसे निभा सकता है… क्या आपको लगता है कि ऐसे रिश्ते ज्यादा दिन चल पाएंगे…?” उन्होंने कहा, “वे (अखिलेश और मायावती) इस बात को लेकर चिंतित हैं कि क्या SP का वोट BSP में और BSP का वोट SP में अंतरित हो पाएगा… और जब उन्हें पता लगता है कि ऐसा नहीं हो पाएगा, तो उनका मानसिक तनाव और ब्लड प्रेशर दोनों बढ़ जाते हैं…”केशव प्रसाद मौर्य ने दावा किया कि SP-BSP-RLD का गठबंधन उत्तर प्रदेश में कहीं भी BJP के लिए चुनौती नहीं बन पाएगा. उन्होंने कहा कि आम चुनाव 2019 में हम रायबरेली, अमेठी और आजमगढ़ समेत वे सभी सीटें भी जीतेंगे, जहां हम वर्ष 2014 के आम चुनाव में हार गए थे.

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here