देश की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। कांग्रेस (Congress) शासित प्रदेशों में स्थिति गंभीर हो रही है। गोवा (Goa) और कर्नाटक (Karnataka) के बाद कांग्रेस में मचा यह भंवडर मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)  में भी पहुँच चुका है। पिछले कई दिनों से कहा जा रहा है कि मध्यप्रदेश में भी सियासी उठापटक शुरू हो गई है। जहाँ भाजपा के कई नेता दावा कर चुके हैं कि किसी भी वक्त प्रदेश में सरकार गिराकर भाजपा सरकार बनाई जा सकती है, वहीं कांग्रेस के नेता इसे मुंगेरीलाल के हसीन सपने बता रहे हैं और कह रहे हैं कि कोई कितना भी कुछ कर ले सरकार को नहीं गिरा सकते।

 

भाजपाइयों के मुंगेरीलाल के हसीन

कांग्रेस सरकार में मंत्री सज्जनसिंह वर्मा (Sajjan Singh Verma) ने भाजपा (BJP )  पर तीखा पलटवार किया है। एस वर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित तमाम भाजपा के नेताओं पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि पहले एक मुंगेरी लाल होता था, अब 5-6 भाजपा में हो गए हैं। शिवराज सिंह चौहान, गोपाल भार्गव, भूपेंद्र सिंह, हसीन सपने देखने की आदत है, उनके आरोपों से क्या होता है। कांग्रेस सरकार बनी रहेगी।

शीर्ष नेतृत्व से खुश नहीं कांग्रेस के विधायक

कुछ समय पहले ही मध्यप्रदेश में यह कहा जा रहा था कि कांग्रेस के कई विधायक शीर्ष नेतृत्व से खुश नहीं हैं। इसके बारे में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि एक मंत्री को चार विधायकों की देखभाल करने की जिम्मेदारी दी गई है। इससे पहले भाजपा नेता नरोत्तम मिश्रा ने कहा था कि मेरे पास व्हाट्सएप पर मैसेज आ रहे हैं कि गोवा के समंदर से मानसून उठा और यह कर्नाटक से होता हुआ मध्य प्रदेश आ रहा है। कुछ दिनों बाद मौसम सुहाना हो सकता है। इतना ही नहीं वरिष्ठ कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा था कि भाजपा पिछले छह महीने से सरकार गिराने की कोशिश कर रही है, यह मुंगेरी लाल के हसीन सपने देखने जैसा है। अब सभी के मन में बस यही सवाल उठ रहे हैं कि जैसे गोवा और कर्नाटक में राजनीति का वैसे ही कहीं मध्यप्रदेश का भी हाल न हो जाए।

Hindi Planet News पर ये खबर पढ़ने के लिए धन्यवाद, अगर आपको ये खबर अच्छी लगी हो तो इसे लाइक करके अपने सभी दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें | ऐसी ही मजेदार खबरें पढ़ने के लिए हमें फॉलो जरुर करें |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here