अहमदाबाद शहर के सरदार वल्लभभाई पटेल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर बंदरों के अड्डा जमाकर बैठने पर राज्य के मुख्यमंत्री को एक घंटा विलंब के बाद अपने चार्टर्ड प्लेन से राजकोट रवाना होना पड़ा, बंदरों के कारण अन्य 16 फ्लाइट का कार्यक्रम भी छिन्न-भिन्न हो गया। चार फ्लाइट तो एक घंटे तक वहीं पर उड़ती रहीं, वहीं दो फ्लाइट को डायवर्ट करने से अनेक यात्रियों को परेशानी उठानी पड़ी।

अहमदाबाद के डोमेस्टिक एयरपोर्ट पर सुबह में फ्लाइटों का आवागमन अधिक रहता है। यहां सुबह आठ बजे रन वे पर तकरीब 25 से भी अधिक बंदरों के झुंड के उतरने पर अहमदाबाद एयर ट्राफिक कंट्रोल ने चार फ्लाइटों के पायलट को हालात से अवगत कराते हुए लैंडिंग की अनुमति नहीं दी। इससे इंडिगो की चार फ्लाइट को हवा में ही चक्कर लगाना पड़ा।

इस प्रकार मुंबई की 8.40 और 8.50 की फ्लाइट को वड़ोदरा डायवर्ट करना पड़ा। वहीं 16 से अधिक फ्लाइट का शिड्यूल छिन्न-भिन्न हो गया। राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के भी चार्टर्ड प्लेन से राजकोट जाना था। उन्हें भी एक घंटे विलंब से जाना पड़ा। इससे एयरपोर्ट आॅथोरिटी की नींद हराम हो गयी। वहीं उनका सब कुछ चाकचौबंद होने के दावे की पोल भी खुल गयी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here